wednesday, august 30, 2017
Follow us on
LATEST HEADLINES
भारत ने अंग्रेजों को 4-0 से रौंदा, नायर 'मैन ऑफ द मैच'वित्तमंत्री ने किया छोटे दुकानदारों के लिए नई स्कीम का ऐलानट्रंप को रिझाने की कोशिश में मोदी! अमेरिकी एनएसए से मिले अजित डोभाल पाक छोड़ने में पूर्व सेना प्रमुख शरीफ ने की मदद: मुशर्रफपीएम के कपड़ों की तरह नियम बदल रहा RBI: राहुल गांधीलोकलुभावन रेल बजट के दिन गए, मुफ्त नहीं मिलेगी रेल सेवाएंनोटबंदी के बीच चंडीगढ़ में भाजपा को बड़ी कामयाबी, 26 में से 21 सीटें जीतीं दोबारा चलन में आएंगे छापे में पकड़े गए 100 करोड़ के नए नोट Flexi Fare: करंट रिजर्वेशन कराने वालों को मिलेगी 10 फीसदी छूट सायरस के जाने से टाटा को हुआ 10 बिलियन डॉलर का नुकसान
कुरुक्षेत्र(राकेश शर्मा)

डेरा प्रमुख राम रहीम सिरसा के नाम है बरगट जाटान से मिली जिप्सी : दलीप सिंह--पिपली से सबंध रखता है बरगट जाटान में जिप्सी छोडक़र जाने वाला --पंचकूला आगजनी से जुड़े दिख रहे है जिप्सी के तार--बाबैन थाना प्रभारी दलीप सिंह पत्रकारों से बातचीत करते हुए व बरगट से बरामद हुई जिप्सी।

टीम डिजिटल/ ( दैनिक उजाला, लुधियाना) august 30, 2017 07:30 pm
Reported By : राकेश शर्मा

बाबैन,30 अगस्त (राकेश शर्मा) : गांव बरगट जाटान से बरामद हुई जिप्सी का खुलासा हो गया है यह जिप्सी डेरा प्रमुख राम रहीम की डेरा सिरसा के नाम है और इस जिप्सी को गांव बरगट जाटान में छोडक़र जाने वाला पिपली से सबंध रखता है और वह डेरा प्रमुख का नजदीकी भी हो सकता है। उपरोक्त जानकरी बाबैन थाना प्रभारी दलीप सिह ने बाबैन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि जिप्सी के मामले के बारे में अभी जांच चल रही है अगर यह जिप्सी पंचकूला आगजनी में प्रयोग की गई है तो पुलिस इस मामले में पाए जाने वाले दोषियों के खिलाफ उचित कारवाई करेगी। थाना प्रभारी दलीप सिंह ने कहा कि इस मामले की जांच को लेकर टीमें गठित कर दी गई है और हर रोज जगह जगह छापेमारी की जा रही है जैसी ही आरोपी पकड़ा गया तो उचित कारवाई अमल में लाई जाएगी। दलीप सिंह ने बताया कि अगर यह जिप्सी पंचकूला आगजनी में प्रयोग की गई है तो उसको पंचकूला पुलिस के पास भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बाबैन क्षेत्र में रात के समय गश्त जारी है और गांव कंदौली में स्थिति नाम चर्चा पर भी पुलिस का पूरा पहरा जारी है। उन्होंने कहा कि बाबैन क्षेत्र के आस पास शांति का माहौला बना हुआ है।

कुरुक्षेत्र(राकेश शर्मा)

शिवानी ने एएनएम में प्रदेश स्तर पर दूसरा स्थान हासिल करके किया गांव का नाम रोशन

टीम डिजिटल/ ( दैनिक उजाला, लुधियाना) august 30, 2017 07:30 pm
Reported By : राकेश शर्मा

बाबैन,30 अगस्त (राकेश शर्मा)एएनएम की परीक्षा में प्रदेश स्तर पर दूसरा स्थान हासिल करने का गौरव प्राप्त करने वाली गांव यारा की बेटी शिवानी शर्मा ने प्रदेश में रोशन किया है। गांव यारा निवासी पूर्व सरपंच मांगेराम, सतबीर यारा, बिनेश शर्मा व अन्य ग्रामीणों ने शिवानी की इस उपलब्धि को लेकर गांव में जोरदार स्वागत किया। जब्किी शिवानी के माता पिता ने बेटी के सराहनीय प्रर्दशन को लेकर उसके शिक्षण संस्थान को श्रेय दिया है। शिवानी की इस उपलिब्धी से गांव यारा में खुशी का माहौल है वहीं गांववासियों को बेटी पर गर्व है। काबिलेगौर है कि शिवानी को 2011 में शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी रहने पर हरियाणा के राज्यपाल के द्वारा अर्वाड देकर समानित कर चूके है। पूर्व सरपंच मांगेराम व समाजसेवी सतबीर यारा ने कहा कि गांव के बच्चों को शिवानी शर्मा से सिख लेनी चाहिए और शिक्षा स्तर में बेहतर प्रर्दशन करते हुए गांव, माता पिता व गुरूजनों का नाम रोशन करना चाहिए। गांव यारा में शिवानी शर्मा को सम्मानित भी किया गया।

कुरुक्षेत्र(राकेश शर्मा)

धान के खेतों मे बड़ रहा है भूरा तेला व तनाछेदक का प्रकोप : डा. विरेंद्र --सही समय पर कीटनाशकों का प्रयोग करके पाई जा सकती है घान मे आई बीमारियों से निजात

टीम डिजिटल/ ( दैनिक उजाला, लुधियाना) august 30, 2017 07:30 pm
Reported By : राकेश शर्मा

बाबैन,30 अगस्त (राकेश शर्मा)खंड कृषि अधिकारी डा. विरेंद्र सिंह के द्वारा कई गांवों का दौरा किया व किसानों को पत्ती व पौधा का तेला की पहचान व रोकथाम के बारे मे विस्तार से जानकारी दी। डा. विरेंद्र सिंह नें बाबैन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया की जिला कुरूक्षेत्र के कई गांवों में धान के खेत का निरीक्षण के दौरान खेतों में भूरा तेला, तनाछेदक व सफेद पीठ वाले तेले का आक्रमण पाया गया। उन्होंने बताया कि आज कल जो मौसम चल रहा है वह इस कीट की बढ़ौतरी के लिए अनुकूल है। उन्होंने बताया कि इस कीट के शिशु पौधों का रस चूसतें है। पत्तों को तेला पत्तों का रस चुसता है जबकि पौधों का तेला तनें के निचले भाग से रस चुसता है इस पर आक्रमण गोलाकार टुकडिय़ों में शुरू होता है जोकि धीरे-घीरे बढ़ता है। उन्होंने बताया कि हमें इसकी रोकथाम के लिए 10 किलोग्राम मिथाईल पैराथियान का प्रति एकड़ धूड़ा करें या 250 मि. ली ड़ाइकलोरवास 76 ई.सी को 1.5 लिटर पानी में मिला ले और इस घोल को 20 किलोग्राम रेत मे मिला कर प्रति एकड़ फसल मे खड़े पानी में बिखेर दें। उन्होंने पत्रकारों को बातचीत करते हुए बताया कि उप कृषि निदेशक कुरुक्षेत्र डा. कर्म चन्द ने कृषि विभाग के सभी अधिकारियों को निर्देश दिए की वें फील्ड़़ में जाकर किसानों को कीटों व बिमारियों की रोकथाम के बारें मे जागृत करें। इस मौके पर एडीओ रामपाल, एडीओ अमीलाल, एडीओ संजीव कुमार व अन्य किसान मौजूद थे।