Monday, feb 05, 2017
Follow us on
LATEST HEADLINES
भारत ने अंग्रेजों को 4-0 से रौंदा, नायर 'मैन ऑफ द मैच'वित्तमंत्री ने किया छोटे दुकानदारों के लिए नई स्कीम का ऐलानट्रंप को रिझाने की कोशिश में मोदी! अमेरिकी एनएसए से मिले अजित डोभाल पाक छोड़ने में पूर्व सेना प्रमुख शरीफ ने की मदद: मुशर्रफपीएम के कपड़ों की तरह नियम बदल रहा RBI: राहुल गांधीलोकलुभावन रेल बजट के दिन गए, मुफ्त नहीं मिलेगी रेल सेवाएंनोटबंदी के बीच चंडीगढ़ में भाजपा को बड़ी कामयाबी, 26 में से 21 सीटें जीतीं दोबारा चलन में आएंगे छापे में पकड़े गए 100 करोड़ के नए नोट Flexi Fare: करंट रिजर्वेशन कराने वालों को मिलेगी 10 फीसदी छूट सायरस के जाने से टाटा को हुआ 10 बिलियन डॉलर का नुकसान
लुधियाना

आंखों में था अंधकार, फिर भी पहुंचे मतदान के द्वार

टीम डिजिटल/ ( दैनिक उजाला, लुधियाना) |feb 05, 2017 05:30 pm
Reported By : राजीव त्रिखा, लुधियाना

चुनावी महासंग्राम में नेत्रहीन भी प्रत्याशियों के कर्णधार बने। इनकी आंखों के आगे अंधकार था, पर वे नि:संकोच भाव से मतदान के द्वार पहुंचे। शनिवार को मतदान प्रक्रिया के दौरान नेत्रहीनों ने खुलकर मताधिकार का प्रयोग किया। चुनाव आयोग ने पहली मर्तबा इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में नया विकल्प जोड़ा है। असल में मशीन में ब्रेल लिपि सिस्टम को अपलोड करके नेत्रहीनों को मताधिकार का प्रयोग करने की स्वतंत्रता दी गई है। मशीन में बटन वहीं हैं, पर इन बटनों के ऊपर ब्रेल लिपि उकेरी गई है। बटन पर अंगुली रखते ही नेत्रहीनों को आभास हो जाता है कि फलां बटन दबाने पर किस उम्मीदवार को वोट जाएगा।