friday, may 23, 2016
Follow us on
LATEST HEADLINES
भारत ने अंग्रेजों को 4-0 से रौंदा, नायर 'मैन ऑफ द मैच'वित्तमंत्री ने किया छोटे दुकानदारों के लिए नई स्कीम का ऐलानट्रंप को रिझाने की कोशिश में मोदी! अमेरिकी एनएसए से मिले अजित डोभाल पाक छोड़ने में पूर्व सेना प्रमुख शरीफ ने की मदद: मुशर्रफपीएम के कपड़ों की तरह नियम बदल रहा RBI: राहुल गांधीलोकलुभावन रेल बजट के दिन गए, मुफ्त नहीं मिलेगी रेल सेवाएंनोटबंदी के बीच चंडीगढ़ में भाजपा को बड़ी कामयाबी, 26 में से 21 सीटें जीतीं दोबारा चलन में आएंगे छापे में पकड़े गए 100 करोड़ के नए नोट Flexi Fare: करंट रिजर्वेशन कराने वालों को मिलेगी 10 फीसदी छूट सायरस के जाने से टाटा को हुआ 10 बिलियन डॉलर का नुकसान
ऋषिकेशः

बद्रीनाथ-ऋषिकेश हाईवे पर गैस सिलेंडरों में आग लगने से धमका, चारधाम यात्रा प्रभावित

टीम डिजिटल/ ( दैनिक उजाला, लुधियाना) | june 23, 2017 09:30 pm
Reported By : राजीव त्रिखा, लुधियाना

ऋषिकेशः बद्रीनाथ-ऋषिकेश हाईवे पर आज गैस सिलंडर फटने से बड़ा हादसा हो गया। बताया जा रहा है कि गैस सिलंडर के साथ भरे ट्रक में अचानक आग लगने के कारण गैस सिलेंडरों में धमाका हो गया, जिस कारण चारधाम यात्रा प्रभावित हो गई है। जानकारी के मुताबिक गैस सिलेण्डर से भरे ट्रक में इतनी भयानक तरीके से विस्फोट हुआ और देखते ही देखते ट्रक जलकर राख हो गया। बताया जा रहा है कि ट्रक चालक ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। सूचना मिलने पर फायर बिग्रेड भी मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक ट्रक जलकर राख हो गए।.

यात्रा

वैष्णो देवी के रास्ते के पास लगी भीषण आग, बंद किया गया नया मार्ग/h2>
टीम डिजिटल/ ( दैनिक उजाला, लुधियाना) | may 28, 2015 09:30 AM
Reported By : राजीव त्रिखा, लुधियाना

वैष्णो देवी की यात्रा के आधार शिविर कटड़ा के पास हिमकोटी के जंगलों में शनिवार को लगी आग देखते ही देखते पांच किलोमीटर तक फैल गई. अग्निशमन और वन विभाग के अलावा वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के कर्मचारी सारी रात आग पर काबू पाने की कोशिश करते रहे, लेकिन उन्हें अभी तक इसमें सफलता नहीं मिल पाई है.सूत्रों के मुताबिक, यह आग कटड़ा के पास पलेल गांव से शुरू हुई और हिमकोटी के जंगलों तक पहुंच गई. हालांकि राहत की बात यह है कि इस आग के कारण कोई भी यात्री हताहत नहीं हुआ. वहीं श्राइन बोर्ड ने नए बैटरी कार मार्ग पर यात्रा रोक रखी है. अभी बस पुराने मार्ग से यात्रा जारी है.श्राइन बोर्ड के सीईओ अजीत साहू ने बताया कि आग यात्रा मार्ग के बेहद पास तक आ पहुंची, जिस कारण यात्रा को थोड़े वक्त के लिए रोकना पड़ा. आग पर काबू पाने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं. श्रद्धालुओं को किसी तरह के नुकसान से बचाने के लिए ही बैटरी मार्ग बंद कर पारंपरिक मार्ग की ओर से श्रद्धालुओं को आने-जाने की इजाजत दी जा रही है.

यात्रा

इस क्रिसमस गोवा छोड़ इन जगहों पर लेंं भरपूर मजा

टीम डिजिटल/ ( दैनिक उजाला, लुधियाना) | Dec 22, 2015 09:30 AM
Reported By : राजीव त्रिखा, लुधियाना

क्रिसमस आते ही जश्न मनाने के लिए जेहन में सबसे पहले गोवा ही आता है, मगर भारत में कई और जगहें भी हैं जहां इस फेस्टिवल का भरपूर मजा लिया जा सकता है।

पुड्डुचेरी

अगर आप ऐसी जगह की तलाश में हैं, जहां शांतिपूर्ण तरीके से क्रिसमस का जश्न मना सकें तो फिर आपके लिए पुड्डुचेरी (पांडिचेरी) सबसे बेहतर विकल्प है। यह बेहद खूबसूरत जगह है और गोवा की तरह यहां भी रोमन कैथलिकों अच्छी-खासी आबादी है, जो बेहद उत्साह व आनंद के साथ क्रिसमस मनाते हैं। वहीं यहां के ऐतिहासिक चर्च दिल को सुकून पहुंचाते हैं। यहां का सेंट एंड्रूस चर्च साल 1745 में बना था तो इम्मेकुलेट कन्सेप्शन कैथेड्रल चर्च साल 1791 में। ऐसे कई पुराने चर्च पुड्डुचेरी में आज भी हैं।

दमन-दीव

भारत के सात केंद्र शासित प्रदेशों में से एक दमन-दीव पर पुर्तगालियों का जबरदस्त प्रभाव देखने को मिलता है और यही इस जगह को बेहद खास बना देता है। पूरे साल शांत रहने वाला दमन-दीव क्रिसमस पर गुलजार हो जाता है। हर एक चर्च को कलरफुल आर्टिफिशियल लाइटों से सजा दिया जाता है। वहीं पुर्तगाली डांस यहां के मुख्य आकर्षण का केंद्र होता है। यहां आकर चर्च ऑफ बोम जीसस, जैन मंदिर और देवका बीच जरूर घूमें।

शिलॉन्ग

अगर आप किसी हिल स्टेशन पर क्रिसमस मनाना चाहते हैं तो शिलॉन्ग आपका इंतजार कर रहा है। इसे अपनी प्राकृतिक सुन्दरता के लिए जाना जाता है। यहां के झरने, बगीचे इतने खूबसूरत हैं कि एक बार देख लेने के बाद आंखें हटाना मुश्किल हो सकता है। मगर ऐसा ही एहसास क्रिसमस के समय भी होता है, क्योंकि यहां भी यह फेस्टिवल धूमधाम से मनाया जाता है। वहीं क्रिसमस के आसपास यहां कैरल की धून अक्सर सुनने को मिल जाती है। यहां आकर नोह्कलिकई फॉल्स और उमीअम लेक जरूर देखें।

इन जगहों के अलावा आप कोलकाता, चेन्नई, मुुंबई, मसूरी या फिर उत्तर-भारत में कहीं का भी रुख कर सकते हैं और इस क्रिसमस को जीवन भर के लिए यादगार बना सकते हैं।